Categories
United Nations

संयुक्त राष्ट्र संघ के उद्देश्य सफलता और असफलता

संयुक्त राष्ट्र संघ के उद्देश्य निम्नलिखित हैं

1. अंतर्राष्ट्रीय शांति तथा सुरक्षा काम करना

2.सभी राष्ट्रों के बीच समान अधिकार और आत्म निर्णय के सिद्धांतों के आधार पर मैत्रीपूर्ण संबंधों का विकास करना।

3. शांतिपूर्ण उपायों से अंतर्राष्ट्रीय विवादों को सुलझाना।

4. विश्व की आर्थिक सामाजिक और सांस्कृतिक आदि मानवीय समस्याओं के समाधान हेतु अंतर्राष्ट्रीय सहयोग प्राप्त करना।

5.जाति भाषा और लिंग एवं धर्म का भेद के बिना सब के लिए मानव अधिकारों और मौलिक स्वतंत्र गांव के सम्मान को बढ़ावा और प्रोत्साहन देने।

6.इन सामान्य उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए विश्व के राज्यों के बीच सहयोग और समानता स्थापित करना।

संयुक्त राष्ट्र संघ की सफलताएं

1. राजनीतिक विवादों का समाधान

‌अ‍. 19 जनवरी 1946 में ईरान में अनाधिकृत रूप में प्रवेश सूची सेनाओं को हटाया
ब. 1947 में इंडोनेशिया से नीदरलैंड्स की सेनाओं को हटाया।
स. 1962 में क्यूबा को लेकर अमेरिका और रूस के बीच संभावित युद्ध को रोकने की सफलता हासिल की।

2. साम्राज्यवाद और उपनिवेशवाद का उन्मूलन

संयुक्त राष्ट्र संघ के आव्हान पर इंडोनेशिया मोरक्को ट्यूनीशिया तथा अल्जीरिया स्वतंत्र किए गए।

3. गैर राजनीतिक क्षेत्र की सफलता

शिक्षा विज्ञान तथा साहित्य के विकास में योगदान निरक्षरता उन्मूलन डीटीपी पेनिसिलिन का वितरण महामारी ओं पर नियंत्रण दुर्भिक्ष शतावरी निवारण श्रमिकों की दशा में सुधार बालकल्याण दवाइयां एवं भोजन वितरण प्रसूति गृह की स्थापना में सहयोग आदि।

4. अंतर्राष्ट्रीय सहयोग प्राप्त करने का मंच

संयुक्त राष्ट्र संघ एक ऐसा मंच है जहां सभी राष्ट्रीय बैठकर अपनी समस्याओं का समाधान आपसी सहयोग से कर सकते हैं।

5. अंतरराष्ट्रीय कानूनों का आदर एवं पंजीकरण

संघ द्वारा देशों के मतभेद दूर करते समय अंतर्राष्ट्रीय विधि का हमेशा पालन किया जाता है जिससे राष्ट्रों में इन कानूनों के प्रति आदर भाव पैदा हो।

6. संयुक्त राष्ट्र संघ एक नियंत्रक शक्ति के रूप में

इसका दृष्टिकोण से दया वह शांति का रहा है अंतरराष्ट्रीय मामलों में इसने विभिन्न देशों के बीच शक्ति संतुलन और सहयोग के आदान-प्रदान पर काम किया है।

7. नैतिक दबाव का साधन

संयुक्त राष्ट्र संघ की आक्रमणकारी राष्ट्रों पर अपना नैतिक दबाव डालकर उन्हें सही रास्ते में आने के लिए बाध्य करता है।

असफलताएं

1.हथियारों की होड़ को रोकने में असफलता।

2.सशस्त्र आक्रमणों को रोकने में असफल कश्मीर अरब इजरायल कोरिया के आक्रमणों प्रभाव कारी कार्यवाही नहीं कर सका युद्धों के बाद युद्धविराम करवाने की भूमिका ज्यादा रही

3. दक्षिण अफ्रीका की श्वेत सरकार ने संघ के उद्देश्यों का अतिक्रमण किया बल गाजिया हंगरी रोमानिया में मूल अधिकारों के हनन को रोक पाने में संयुक्त राष्ट्र संघ असफल रहा।

4. कई राष्ट्र अभी भी इसके सदस्य नहीं है सदस्यों में आपसी मतभेद भी बहुत हैं।

5. विश्व में शक्ति संतुलन का आदर्श रूप अभी भी नहीं है।